प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को घोषणा की कि 10 वें सिख गुरु गोबिंद सिंह के चार पुत्रों को श्रद्धांजलि देने के लिए इस वर्ष से 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाया जाएगा। उन्होंने ट्वीट किया कि यह साहिबजादों के साहस और न्याय स्थापित करने के उनके प्रयास के लिए एक उचित श्रद्धांजलि है। गुरु गोबिंद सिंह के चारों पुत्रों की मुगलों ने हत्या कर दी थी।


मोदी ने ट्वीट किया, वीर बाल दिवस उसी दिन मनाया जाएगा, जिस दिन साहिबजादा जोरावर सिंह जी और साहिबजादा फतेह सिंह जी दीवार में जिंदा चिनवा कर शहीद कर दिए गए थे। इन दो महान हस्तियों ने धर्म के महान सिद्धांतों से विचलित होने के बजाय मृत्यु को चुना।

उन्होंने कहा, माता गुजरी, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी और चार साहिबजादों की वीरता और आदर्शों ने लाखों लोगों को शक्ति दी। अन्याय के आगे उन्होंने कभी सिर नहीं झुकाया। उन्होंने एक समावेशी और सामंजस्यपूर्ण दुनिया की कल्पना की। यह समय की मांग है कि ज्यादा से ज्यादा लोग उनके बारे में जानें।

केंद्र में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार सिख समुदाय तक पहुंचने के लिए कई कदम उठा रही है। माना जाता है कि सिख समुदाय तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के लागू होने के बाद सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी से नाराज हो गया है। प्रधानमंत्री ने हाल ही में इन कानूनों को निरस्त करने की घोषणा की थी।