भारत बायोटेक ने कहा:15 से 18 साल के बच्चों सिर्फ़ कोवैक्सीन दें

वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने एक बयान दिया जिसके अनुसार कुछ ऐसी रिपोर्ट्स मिल रही हैं की 15-18 साल के किशोरों के लिए शुरू किए गए कोरोना टीकाकरण के तहत कोवैक्सीन के अलावा अन्य वैक्सीन की खुराक भी दी जा रही है, भारत बायोटेक ने स्वास्थ्य कर्मियों से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया है कि बच्चों को केवल और केवल कोवैक्सीन दिया जाए क्योंकि 15 से 18 साल के लिए अब तक केवल कोवैक्सीन को मंजूरी दी गई है।


कंपनी ने इस संबंध में देर रात ट्वीट किया है। कंपनी ने कहा है, ''हमें 15-18 आयु वर्ग के लोगों को कोविड-19 के अन्य टीके दिए जाने की जानकारी मिली है. कोवैक्सीन की खुराक देनी चाहिए।

कंपनी का कहना है कि भारत में क्लिनिकल ट्रायल के नतीजों के आधार पर इस आयु वर्ग के बच्चों के लिए सिर्फ कोवैक्सीन को मंजूरी दी गई है। इससे पहले, भारत बायोटेक ने एक बयान जारी कर कहा था कि अखबार के अनुसार, कोवैक्सीन लेने वाले बच्चों के लिए किसी भी दर्द निवारक की सिफारिश नहीं की जाती है।

बयान में कहा गया, हमें फीडबैक मिला है कि कुछ टीकाकरण केंद्र कोवैक्सीन प्राप्त करने वाले बच्चों को पैरासिटामोल की सिफारिश कर रहे हैं। जबकि Covaxin लेने के बाद पैरासिटामोल या किसी तरह की पेनकिलर लेने की जरूरत नहीं है।